मोमबत्ती का बिज़नेस कैसे शुरू करे? bitcoin4buying

मोमबत्ती एक ऐसा व्यवसाय है जिसके माध्यम से आप कम पूंजी में अच्छी खासी कमाई कर सकते हैं. आज का हमारा यह आर्टिकल उन लोगों पर आधारित है जो मोमबत्ती का बिजनेस शुरू करना चाहते हैं. आज आप हमारे इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे की मोमबत्ती का बिजनेस कैसे शुरू करें?

मोमबत्ती का बिजनेस हमारे भारत देश में अधिक क्षेत्रों में फैला है कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां मोमबत्तियां का उद्योग है जिसमें  मोमबत्ती का निर्माण होता है.

क्योंकि हमारे भारत देश में मोमबत्ती का इस्तेमाल कई तरह से किया जाता है इसलिए इसकी डिमांड भी मार्केट में बड़ी हुई रहती है.

मोमबत्ती का बिजनेस कैसे शुरू करें?

हमारे भारत देश में मोमबत्ती के बिजनेस काफी अधिक क्षेत्रों में विस्तार किया गया है जिसमें कई लोग उद्योग के माध्यम से बड़े पैमाने में मोमबत्तीओ का निर्माण करते हैं और कुछ ऐसे लोग होते हैं जो बहुत ही आसान तरीके से अपने घरों में छोटे पैमाने में मोमबत्तियां तैयार करके मार्केट में सेल करते हैं.

यदि आप इस बिजनेस को शुरू करने के लिए इच्छुक हैं तो इसे शुरू करने के पहले आपको इस बिजनेस से संबंधित सारी जानकारियां लेनी होगी मोमबत्ती बिजनेस की जानकारी आप उन लोगों से लें जो मोमबत्ती का बिजनेस चलाते हैं इससे आपको सही जानकारी मिल पाएगी.

1. मोमबत्ती बिजनेस शुरू करने के लिए योजना तैयार करें.

किसी भी बिजनेस को स्टार्ट करने के लिए व्यापारियों को अपने बिजनेस के लिए सभी प्रकार की योजनाएं तैयार करनी चाहिए.

जैसे आपके बिजनेस में लगने वाली लागत, कच्चा माल, मार्केटिंग, बिजनेस के लिए जगह का चुनाव, यदि इन सभी की योजना आप बिजनेस करने से पहले तैयार कर लेते हैं तो आपको बिजनेस को शुरू करने में कोई कठिनाई महसूस नहीं होगी.

2. मोमबत्ती बिजनेस शुरू करने की लागत:-

मोमबत्ती का बिजनेस एक ऐसा व्यवसाय है जिसे दो पैमाने में किया जाता है. हमारे भारत देश में मोमबत्तियां का इस्तेमाल धार्मिक स्थानों के साथ-साथ घरों की सुंदरता को बढ़ाने के लिए सजावट करने में किया जाता है इसलिए मार्केट में मोमबत्तियां का डिमांड काफी ऊंचे चरम पर रहता है अधिक से अधिक लोग मोमबत्तियां का खरीदारी करते हैं.

मोमबत्ती की आवश्यकता को देखते हुए लोग इसका छोटे से लेकर बड़ा बिजनेस करते हैं. कई लोग मोमबत्ती का बिजनेस अपने घरों में कम लागत में शुरू करते हैं और मार्केट में अगरबत्ती होगा बेचते हैं और कुछ परसेंट लोग ऐसे हैं जो अगरबत्ती का बड़ा उद्योग खोलकर मशीनों के माध्यम से अगरबत्ती का निर्माण करते हैं और उन्हें अधिक मात्रा में निर्यात भी करते हैं.

यदि आप छोटे पैमाने में इस बिजनेस को घर से शुरू कर रहे हैं तो इसमें आपको बहुत ही कम लागत में काफी फायदा हो सकता है लेकिन यदि अब बड़े पैमाने में मोमबत्ती का बिजनेस शुरू करना चाह रहे हैं तो आपको शुरुआती में 50,000 से अधिक रुपए खर्च करने होंगे तभी आपका बिजनेस शुरू हो पाएगा.

3. मोमबत्ती को बनाने के लिए आवश्यक कच्ची सामग्री के नाम और इन्हें खरीदने का स्थान:-

यदि आप इस बिजनेस को शुरू करते हैं तो इसके लिए आपको कच्ची सामग्री की खरीदारी करनी होगी जिससे आपका मोमबत्ती तैयार किया जाता है कच्ची सामग्री के अंतर्गत पैराफिन मोम, कैस्टर तेल, मोमबत्ती के धागे, थर्मामीटर, विभिन्न रंग, सुगंध के लिए सेंट, ओवन तथा बर्तन या पोर्ट इत्यादि आते हैं.

आप बिजनेस को शुरू करने के पहले इन सभी कच्चे मालों को अपने नजदीकी दुकान के माध्यम से खरीद सकते हैं या फिर आज के जिम्नेशन में ऑनलाइन के माध्यम से हर एक प्रकार की सामग्री आपके घर तक पहुंचा दी जाती है. 

आप इसकी वेबसाइट की जांच करें और वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन तरीके से मोमबत्ती के लिए कच्ची सामग्रियां मंगवा सकते हैं. आप जब भी कच्चे सामग्रियों की खरीदारी करें तो उनकी गुणवत्ता की जांच जरूर कर ले.

4. मोमबत्ती बनाने की मशीन:-

जिस प्रकार अलग-अलग उत्पादों को बनाने के लिए अलग-अलग मशीनों की आवश्यकता होती है ठीक उसी प्रकार मोमबत्ती बनाने के लिए भी मोमबत्ती की अलग-अलग वैरायटी की मशीन मिलती है जिसका स्ट्रक्चर और क्वालिटी भी अलग-अलग होती है. मशीन के माध्यम से हर एक उत्पाद कम समय में अधिक मात्रा में उत्पादित किया जाता है.

5. मोमबत्ती बनाने की मशीन:-

अर्द्ध स्वचालित मशीन:-

इस मशीन का इस्तेमाल बहुत ही आसान तरीके से किया जाता है क्या मशीन बहुत ही अच्छी गुणवत्ता वाली मशीन है जिसके माध्यम से मोमबत्ती को आसानी पूर्वक सेट किया जाता है.

इस मशीन के माध्यम से मोम को ठंडा करने के लिए इसमें पानी का भी संचालन होता है इसलिए मोमबत्ती बनाने के लिए यह मशीन बहुत ही उत्तम होती है. जिसे व्यापारी अपने अनुसार खरीदते हैं.

मैनुअल मशीन:-

मैनुअल मशीन की स्ट्रक्चर और क्वालिटी बहुत ही शानदार रहती है इस मशीन के माध्यम से 1 घंटे में लगभग 1800 से मोमबत्तियां तैयार की जाती है अर्थात बोला जाए तो कम समय में अधिक मोमबत्ती का निर्माण इस मशीन के माध्यम से किया जाता है.

पूर्ण ऑटोमेटिक मशीन:-

फुल ऑटोमेटिक मशीन का इस्तेमाल ज्यादातर उद्योगों में किया जाता है क्योंकि इस मशीन की खास बात यह है कि इस मशीन के माध्यम से 1 मिनट में 200 से 250 अगरबत्ती है तैयार की जाती है यह मशीन लंबे समय तक टिकाऊ होती है.

इसके साथ-साथ इस मशीन के माध्यम से अलग-अलग डिजाइन की मोमबत्ती  तैयार की जाती है इसलिए व्यापारी अपने इनकम के अनुसार इस मोमबत्ती के मशीन की खरीदारी कर मोमबत्तियो का निर्माण करते हैं.

इस प्रकार मुख्यतः तीन प्रकार की मोमबत्ती  का मशीन मार्केट में उपलब्ध है जिसे व्यापारी अपने इनकम के अनुसार खरीदते हैं और इसका इस्तेमाल विभिन्न प्रकार के डिजाइन वाली मोमबत्ती को बनाने के लिए करते हैं.

6. स्थान का चुनाव :-

अगर आप मोमबत्ती का बिजनेस शुरू कर रहे हैं तो इसके लिए आपको एक सुनिश्चित स्थान का चुनाव करना बहुत ही आवश्यक है हालांकि यह व्यवसाय आप घर के माध्यम से कर सकते हैं

इसके सारे कच्चे मालों के साथ-साथ मशीनों को रखने के लिए पर्याप्त स्थान होनी चाहिए इसलिए छोटे पैमाने पर अगर आप इस बिजनेस को शुरू करना चाह रहे हैं तो आपका घर में आसानी पूर्वक यह बिजनेस शुरू हो सकता है.

दूसरी ओर यदि आप बड़े पैमाने में इस बिजनेस को चलाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको एक ऐसी जगह चुन्नी होगी जहां आपके सारे  सामग्री सुव्यवस्थित ढंग से रखी जा सके और जहां  तैयार किए गए अगरबत्ती के बॉक्स का रखरखाव अच्छे ढंग से हो सके.

आपके द्वारा चुनी गई जगह ऐसी स्थान पर हो जहां से मार्केट नजदीक होता  हो ताकि आप आवश्यक कच्चे माल की सामग्री कम समय में खरीदारी कर सकते हैं जिससे आपका समय के साथ-साथ खर्च भी बचेगा. मार्केट नजदीक होने के कारण आपको अपने तैयार की गई मोमबत्तीयों का निर्यात करने में भी आसानी होगी.

7. मोमबत्ती को बनाने के लिए कामगारों का चयन:-

यदि आप मोमबत्ती का बिजनेस बड़े पैमाने में शुरू करना चाहते हैं तो इसके लिए आवश्यक कच्चे माल और मशीनों की खरीदारी करने के साथ-साथ आपको कई संख्या में कामगारों को रखना होगा तभी आपका यह बिजनेस अच्छे तरीके से चल पाएगा क्योंकि सारे मशीनों के काम कर्मचारियों द्वारा हैंडल किया जाता है. 

जब अधिक से अधिक कामगार आपके उद्योग में काम करेंगे तो मोमबत्ती का निर्माण अधिक मात्रा में होगा.

मोमबत्ती की निर्माण प्रक्रिया में कई अलग-अलग तरह के कार्य होते हैं जिनके लिए आपको कई संख्या में कामगारों को रखना होगा.

आप उन कामगारों को अपने कंपनी के अंदर हायर करें जो मोमबत्ती बनाने योग्य हो तथा जो हार्ड वर्किंग हो यदि इस प्रकार की कामगारों को अपने कंपनी के अंदर हायर  करते हैं तो आपका बिजनेस बहुत ही अच्छे तरीके से चलेगा.

8. मोमबत्ती को बनने में लगने वाला समय:-

मोमबत्ती आज की जनरेशन में दो प्रकार से बनाई जाती है पहला तो इसे मशीनों के द्वारा निर्माण किया जाता है और दूसरा कर्मचारियों के द्वारा हाथों से मोमबत्ती को तैयार किया जाता है.

यदि मशीनों के द्वारा मोमबत्ती का निर्माण किया जाए तो कम समय में अधिक मोमबत्तियां निर्मित हो सकती है क्योंकि मशीन आदमियों की अपेक्षा अधिक तेज गति से कार्य करता है. मशीनों के द्वारा मिनटों में 200 से 300 मोमबत्तियां निर्मित होती है.

वही यदि आप कर्मचारियों के माध्यम से मोमबत्ती तैयार करवाते है तो यह कर्मचारियों की संख्या पर निर्भर करता है उतना अधिक संख्या में कर्मचारियों को रखा जाए उतना अधिक मतों का निर्माण किया जा सकता है.

9. मोमबत्ती को हाथों से बनाने की प्रक्रिया:-

जो लोग घरों से अगरबत्ती ओ का निर्माण करते हैं वह अधिक संख्या में कर्मचारियों को रखकर मोमबत्तियां को हाथों से बनाने का काम करवाते हैं जिससे कर्मचारियों के द्वारा मोमबत्ती हाथों से तैयार की जाती है.

हाथों से तैयार करने की प्रक्रिया में सबसे पहले मोम को 290 से 380 डिग्री सेल्सियस में गर्म करके मोम को पिघलाना होता है उसके पश्चात पिघले हुए मोम को ढांचे में डाला जाता है.

जब मोम ठंडा हो जाता है तो उसमें ड्रिल मशीन या सुई के माध्यम से धागे को बीच में लगाया जाता है और फिर गर्म मॉम को मोमबत्ती के बाहरी सतह पर डालकर उसे प्लेन किया जाता है. इस प्रकार मोमबत्ती तैयार की जाती है और फिर से पैकिंग किया जाता है और मार्केट में सेल किया जाता है.

10. सावधानी बरतें:-

जब मोमबत्ती को तैयार किया जाता है तो तैयार करने की प्रक्रिया में  सबसे पहले मॉम को 290 से 380 डिग्री सेल्सियस में पिलाया जाता है यदि ज्यादा तापमान पर मोम को पिलाया जाए तो आग लगने की संभावना होती है इसलिए जब भी आप मोम को पिघला है तो या ध्यान में रखें कि 290 से 280 डिग्री सेल्सियस तापमान हो.

11. मोमबत्ती की पैकिंग:-

जब मोमबत्ती तैयार हो जाती है तो उसे पैकिंग किया जाता है पैकिंग करते समय ध्यान में रखनी चाहिए कि वैसे पेपर से इसकी पैकिंग हो जिससे अधिक तापमान पर इसका रिसाव ना हो सके, मोमबत्ती हाथों के साथ-साथ फिलिंग मशीन के द्वारा भी पैकिंग किया जाता है.

पैकिंग आपके उत्पाद के निर्यात में बहुत ही  अहम भूमिका निभाती है क्योंकि आजकल लोग अच्छे पैकिंग को देखकर प्रोडक्ट को खरीदते हैं इसलिए यदि आप अपने प्रोडक्ट की पैकिंग कुछ यूनिक रखते हैं तो आप का प्रोडक्ट अधिक मात्रा में बिकेगा .

मोमबत्ती के पैकिंग में रंग-बिरंगे पेपर और कुछ बक्से आती है जिसमें मोमबत्ती के आकार के अनुसार अपन की पैकिंग अच्छी तरीके से कर सकें.

12. मोमबत्ती बिजनेस की मार्केटिंग:-

मोमबत्ती बिजनेस की मार्केटिंग करने के लिए आपको कुछ महत्वपूर्ण स्टेप उठाने होंगे जिससे आपके मोमबत्ती का व्यवसाय सभी लोगों के बीच में चर्चित रहे.

यदि आप अपने कंपनी को ज्यादा विस्तार करना चाहते हैं तो इसके लिए आपको अपने कंपनी के नाम पर बैनर बनाकर जगह-जगह लगवाने होंगे, इसके साथ-साथ न्यूज़पेपर में अपने कंपनी के जानकारी दे इससे आपके कंपनी की जानकारी सभी लोगों को पता चलेगीऔर जब लोगों को पता चलेगा तो आपके कंपनी से दुकानदार अधिक से अधिक मात्रा में मोमबत्ती को खरीदेंगे.

इसके साथ-साथ आप ऑनलाइन वेबसाइट अर्थात फेसबुक इंस्टाग्राम, सोशल मीडिया में अपने कंपनी की सारी डिटेल्स डालें क्योंकि सोशल मीडिया में काफी लोग एक्टिव रहते हैं जिससे आपकी कंपनी की जानकारी लोगों को मिलेगी तो आपकी कंपनी से लोग अधिक मात्रा में प्रोडक्ट खरीदेंगे.

मोमबत्ती के व्यवसाय शुरू करने के लिए कानूनी प्रक्रिया:-

हर एक बिजनेस को चलाने के लिए व्यापारियों को सभी प्रकार की कानूनी प्रक्रियाओं को करना होता है क्योंकि कानूनी प्रक्रियाओं को करने के बाद लोगों को भविष्य में किसी भी परेशानी की सामना नहीं करनी पड़ती.

यदि आप इस बिजनेस को चलाना चाह रहे हैं तो इसके लिए आपको रजिस्ट्रेशन पहले ही करवा लेना चाहिए , रजिस्ट्रेशन करवाने के लिए, जिस क्षेत्र में अपना बिजनेस शुरू करना चाहते हैं क्षेत्र के कार्यालय में जाकर रजिस्ट्रेशन की जानकारी लेकर एस एस आई यूनिट के माध्यम से रजिस्ट्रेशन करवा ले.

जब आप कानूनी प्रक्रियाओं को पूरा कर लेंगे तो आपके बिजनेस में कानून तरफ से कोई बाधा उत्पन्न नहीं होगा जिससे आपका बिजनेस सुचारू रूप से चलेगा.

मोमबत्ती के व्यवसाय से मिलने वाली लाभ:-

मोमबत्ती का बिजनेस कम लागत में अधिक लाभदायक है इसलिए यदि आप मोमबत्ती का व्यवसाय करना चाह रहे हैं तो आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगा. मोमबत्ती का बिजनेस ज्यादा कर्मचारियों की आवश्यकता नहीं होती इसलिए इसमें कर्मचारियों का पैसा बचता है. 

आप इस व्यवसाय में जितने पूंजी  लगाते हैं उससे कई गुना ज्यादा आपको इस बिजनेस में प्रॉफिट मिलती है क्योंकि कम पूंजी लगाकर आप जितने प्रोडक्ट का निर्माण करते हैं उन सभी प्रोडक्ट को निर्यात करने के बाद आपको उनसे कई गुना ज्यादा लाभ प्राप्त होता है.

निष्कर्ष:-

मोमबत्ती का बिजनेस ऐसा बिजनेस है जिसमें लोग कम पूंजी में अधिक लाभ प्राप्त कर सकते हैं. यह बिजनेस लोग आसानी पूर्वक कर सकते हैं क्योंकि इसकी प्रक्रिया बहुत ही आसान है.

आशा है आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो.