अंग्रेजी पढ़ना, बोलना एवं लिखना कैसे सीखें? bitcoin4buying

अंग्रेजी भाषा अभी के जनरेशन में हमारी मातृभाषा से भी ज्यादा महत्वपूर्ण बन चुकी है, इसीलिए आज की इस पोस्ट में हम आपको बतायंगे की इंग्लिश कैसे सीखें?

यह भाषा पूरे विश्व में बोले जाने वाले भाषाओं में तीसरे नंबर पर आती है जिस वजह से यह भाषा हमारे हर एक कामों में किसी न किसी रूप में आ ही जाती है चाहे वह ऑफिशियल वर्क हो यह बच्चों का होमवर्क करना हो या कोई नया व्यक्ति से बातचीत करना हो. इन सभी कामों के लिए अंग्रेजी आना बहुत ही जरूरी है.

जिस तरह हमारे मातृभाषा हिंदी की लिपि देवनागरी है ठीक उसी प्रकार ही इस पूरे विश्व में बोले जाने वाले अंग्रेजी भाषा की लिपि रोमन है इसकी प्रयोग अधिकतर कामों में किया जाता है.

आज की जनरेशन में इस डिजिटल इंडिया में सारे काम इंग्लिश वाइस होते है इसलिए हम सभी को इंग्लिश आना बहुत ही अनिवार्य है तभी हम इस बढ़ते जेनरेशन के साथ हम अपनी जिंदगी को इनके ढांचे में ढाल सकते हैं.

अंग्रेजी बोलना जितना लोग कठिन समझते हैं असल में उतना कठिन है नहीं क्योंकि जिस तरह हम अपनी मातृभाषा को सीखे हैं ठीक उसी प्रकार हम इंग्लिश भाषा को भी बहुत ही आसानी रूप से सीख सकते हैं.

अंग्रेजी का महत्व

जिस तरह हमारे घर परिवार के चारों और अर्थात हमारे माहौल में हिंदी कि जिस तरह उच्चारण की जाती है ठीक उसी प्रकार हमारे चारों और हमारे सभी माहौल में अगर इंग्लिश की उच्चारण इसी प्रकार हो तो हम भी इस माहौल के अंतर्गत ढलकर इंग्लिश बोलना आसानी पूर्वक सीख सकते हैं.

चार और हिंदी भाषा के उच्चारण प्रतिदिन हर पल होती रहती है और वही चीज हमारे मस्तिष्क में सेट होती है/.

ठीक उसी प्रकार अगर इंग्लिश भाषा को हमारे इर्द-गिर्द हर पल उच्चारण किया जाए तो यह भाषा भी हिंदी भाषा की तरह हमारे मस्तिष्क में सेट होगी और हम बिना किसी कोर्स किए बिना ग्रामर पड़े इंग्लिश को आसानी पूर्वक पूरा क्लीयरली बोलने में सक्षम हो पाएंगे.

अपनी अंग्रेजी को कैसे सुधारे?

कुछ छोटी-छोटी बातें इंग्लिश को बेहतर बनाने के काम आते हैं:-

अंग्रेजी सीखने के लिए हमें बहुत से छोटी-छोटी बातों को ध्यान में रखना होगा और उन सभी बातों को अपने मस्तिष्क के अंदर उन बातों के अनुसार विचार करने होंगे तब जाकर हम आसानी से इंग्लिश को सीख सकते हैं.

अंग्रेजी भाषा सीखना इतना भी जटिल नहीं है जितना लोग सोचते हैं यदि कोई ठान ले और हर छोटी-छोटी बातों को वह फॉलो करें तो वह एक इंग्लिश स्पीकर बन सकता है.

बहुत से ऐसे महत्वपूर्ण छोटी-छोटी बातें हैं जिनका हमें अंग्रेजी सीखने के लिए ध्यान रखना आवश्यक है वे बातें निम्नलिखित हैं:- 

1. अंग्रेजी भाषा को सिर्फ सुने

अंग्रेजी भाषा सीखने के लिए हमें कुछ महत्वपूर्ण बातों को ध्यान में रखना है तभी जाकर हम अंग्रेजी सीखने में सफल हो पाएंगे.

अंग्रेजी सीखने के लिए सबसे पहला महत्वपूर्ण बात यह कि आप अंग्रेजी को किसी भी तरीके से बस सुने, सुनते वक्त किसी भी तरह के कोई भी काम ना करें और जहां तक संभव हो अंग्रेजी भाषा को बिना समझे बिना इस वाक्य में जोर दिए आप उसे सिर्फ सुने.

इससे आप सुनते ही इंग्लिश की ओर आकर्षित होंगे क्योंकि जिस तरह हम हिंदी बोलना सीखते हैं.

जब हम छोटे थे तब हमें भी सिर्फ हिंदी सुनाई देती थी ना कि हम उसका वाक्य बनाते थे ना ही हम उसे समझते थे केवल सुनते थे और वही सुनी हुई चीज हमारे मस्तिष्क के अंदर सेट होती थी और हम इन हिंदी बोलते थे.

ठीक उसी प्रकार अंग्रेजी भाषा को विभिन्न तरीकों से चाहे वह मूवी हो चाहे इंग्लिश सॉन्ग हो चाहे इंग्लिश लेक्चर हो इन सभी को सिर्फ बिना कुछ काम किए सिर्फ और सिर्फ सुनें इससे आप इंग्लिश आसानी से सीख सकते हैं.

2. अंग्रेजी भाषा का अनुवाद ना करें

यदि आप भी इंग्लिश सीखना चाहते हैं तो आपको एक खास बात या ध्यान में रखनी है कि कभी इंग्लिश सुनते वक्त उनके वाक्य को हिंदी में बनाने की कोशिश ना करें जहां तक संभव हो आपको यह प्रयास करनी चाहिए कि आप इंग्लिश भाषा को इंग्लिश में ही समझने का प्रयत्न करें.

क्योंकि किसी भी भाषा को सीखने के लिए कोई अन्य भाषाओं पर निर्भर नहीं होना चाहिए ऐसा इसलिए है क्योंकि जो व्यक्ति इंग्लिश बोलता है वह तो हिंदी पर निर्भर नहीं है.

जिस तरह हम हिंदी बोलते हैं तो हिंदी बोलने के लिए हम लोग को कोई अन्य भाषा पर निर्भर नहीं होनि  पड़ती ठीक उसी प्रकार इंग्लिश बोलते वक्त हम हिंदी भाषा पर क्यों निर्भर रहे हैं.

इस प्रकार इंग्लिश सीखते वक्त हमें उनके वाक्य को अनुवाद नहीं करनी चाहिए इससे हम आसानी से इंग्लिश सीख सकते हैं.

3. छोटे वाक्यों को बोले

यदि आपको भी इंग्लिश बोलने की इच्छा है आप इंग्लिश सीखना चाहते हैं तो आपको खुद से छोटे-छोटे वाक्यों को बनाकर बोलने का प्रयास करना चाहिए.

यदि आप घर में हैं तो घर के बातचीत में या प्रयास करना चाहिए कि जहां तक संभव हो छोटे-छोटे वाक्यों को बोलने का प्रयास करें इस तरह आपकी आत्मविश्वास बढ़ेगी और आप इंग्लिश सीखने की ओर अग्रसित होते जाएंगे.

छोटे-छोटे वाक्यों को अपने बोलचाल की भाषा में जवाब इंग्लिश से बोलने का प्रयास करेंगे तो आपके लिए वह एक विश्वास नहीं है होगा आप का मनोबल बढ़ेगा इससे आप बहुत जल्दी इंग्लिश सीख सकते हैं.

4. घबराए नहीं

अंग्रेजी बोलते वक्त कभी भी संकोच ना रखें, कभी यह न सोचें कि हमें इस ग्रामर का यूज यहां करना था यहां करनी चाहिए यह सब दिमाग ना लाते हुए आपको अंग्रेजी बोलने का प्रयास करना चाहिए क्योंकि यदि आप ग्रामेटिकली सही इंग्लिश नहीं बोलते तो इससे कोई प्रॉब्लम नहीं है.

जो इंग्लिश में हिंदी बोलने का प्रयास करते हैं उनसे भी तो गलती होती है इसलिए बिना संकोच के इंग्लिश बोले.

यदि आप इंग्लिश बोलने में संकोच करते हैं और यह सोचते हैं कि यह ग्रामर के अकॉर्डिंग होना चाहिए यह गलत हो जाएगा इस तरह का अगर विचार रखते हैं तो आप इंग्लिश नहीं सीख सकते हैं.

इसलिए यदि आपको इंग्लिश सीखनी है तो बिना संकोच के बिना घबराए बस इंग्लिश बोलते रहिए इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आप इंग्लिश जल्दी सीखने में सफल होंगे.

इंग्लिश बोलना कैसे सीखें?

5. अंग्रेजी में सोचना शुरू करें

एक अच्छा इंग्लिश स्पीकर बनने के लिए इंग्लिश में सोचना एक बहुत ही महत्वपूर्ण बात है, यदि आप अच्छे इंग्लिश स्पीकर बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको इंग्लिश के बिना हिंदी वाक्य बनाएं इंग्लिश को इंग्लिश में सोचें और फिर बोले.

जिस तरह हम अपने हिंदी भाषा को हिंदी भाषा में सोचकर बोलते हैं उसी प्रकार हमें इंग्लिश को भी इंग्लिश में ही सोच कर बोलना चाहिए इस तरह हम इंग्लिश जल्दी सीख पाएंगे.

इंग्लिश सीखने के लिए इंग्लिश में सोचना बहुत ही महत्वपूर्ण है इसलिए जहां तक संभव हो इंग्लिश में ही सोचे इंग्लिश में ही बोलें इस प्रयत्न से इंग्लिश सीखने में सक्षम हो पाएंगे.

6. व्याकरण पर जोर ना डालें

यदि आपको भी एकदम फास्टली इंग्लिश बोलनी सीखनी है तो इसके लिए आपको बिना व्याकरण में जोड़ डाले अपने सेंटेंसेस को बोलते रहिए क्योंकि हर एक इंग्लिश स्पीकर ग्रामेटिकली सही नहीं बोलता उनकी इंग्लिश स्पीड होती है.

क्योंकि वे बिना घबराए और बिना ग्रामर में जोड़ डाले अपने इंग्लिश को बोलते जाते हैं इसलिए एक अच्छे इंग्लिश स्पीकर बनने के लिए आपको भी बिना घबराए इंग्लिश बोलते रहना चाहिए.

एक अच्छे इंग्लिश वक्ता उसे ही नहीं माना जाता जो ग्रामर को सर टिकता पूर्वक लेकर इंग्लिश बोले, इंग्लिश फर्स्टली बोलने के लिए आपको बिना घबराए और बिना ग्रामर में जोड़ दिए बस इंग्लिश बोलते जाना चाहिए इससे आप इंग्लिश बहुत ही जल्दी सीख जाएंगे.

7. इंग्लिश सब टाइटल वाली अंग्रेजी फिल्में और धारावाहिक देखें

इंग्लिश में कई फिल्में कई धारावाहिक आते हैं इसके साथ साथ सबटाइटल कंटेंट भी इंग्लिश की होती है जिसमें आपको यह ध्यान में रखना चाहिए कि जब भी आपको कंटेंट पड़े वह आप इंग्लिश में पड़े इससे उनके कंटेंट में जो बोले जाने वाले सेंटेंस होते हैं.

उनके तौर-तरीके होते हैं इनसे आप कुछ हद तक इंग्लिश सीख जाएंगे, क्योंकि इंग्लिश बोलने के लिए हमें इंग्लिश के क्वेश्चन को भी अपने अंदर हावी करनी पड़ती है तभी हमें अच्छे इंग्लिश स्पीकर बन सकते हैं.

यदि आपको भी इंग्लिश अच्छी पूर्वक सीखनी है तो इसके लिए आपको एक और सबसे महत्वपूर्ण स्टेप करना चाहिए स्टेट है कि आप जितने भी फिल्में देखते हैं.

यह जितने भी धारावाहिक सीरियल देखते हैं उन्हें आप हिंदी में ना देख इंग्लिश में देखें इससे इंग्लिश में बोले जाने वाले सेंटेंसेस और इनके साथ के एक्सप्रेशंस होते हैं.

उनसे आप प्रेरित होकर आधा से ज्यादा इंग्लिश सीख सकते हैं यह प्रक्रिया अगर आप पढ़ करने लगे तो कुछ ही समय में आप बहुत ही अच्छे इंग्लिश बोल सकते हैं.

8. अंग्रेजी खबरें देखें

इंग्लिश को हिंदी बोलने के लिए आपको अंग्रेजी खबरों को देखनी चाहिए इनसे जो भी एंकर्स एंकरिंग कर रहे होते हैं उनके इंग्लिश बहुत ही सिंपल लैंग्वेज में होती है जिसे समझ पाना आपके लिए बहुत ही आसान होगा.

इससे आप उनकी एक्सप्रेशन के साथ-साथ इंग्लिश को भी पकड़ सकते हैं और इस तरह आप प्रतिदिन देखें तो एक दिन आप आसानी पूर्वक इंग्लिश बोल सकते हैं.

अंग्रेजी न्यूज़ को प्रतिदिन देखना और अंग्रेजी न्यूज़ देखने का आदत डालना बहुत जरूरी है इन सभी से आप अंग्रेजी को काफी हद तक सीख सकते हैं क्योंकि अंग्रेजी सीखने के लिए सिर्फ अंग्रेजी पढ़ना अंग्रेजी बोलना यह सब आवश्यक नहीं है..

इसके अलावा आप अंग्रेजी में हर एक क्रियाकलाप करो जो आप प्रतिदिन करते हो जैसे की न्यूज़ देखना वह तो प्रतिदिन का काम है तो इसके लिए आपअंग्रेजी के न्यूजो  को देखें.

9. अंग्रेजी अखबार से सीखें अंग्रेजी पढ़ना

यदि आपको भी अंग्रेजी सीखनी है तो इसके लिए सभी क्रियाकलापों के साथ-साथ आपको अंग्रेजी के अखबार पढ़ना चाहिए क्योंकि यह भी हमारे लिए प्रतिदिन का एक कार्य है जो हम प्रतिदिन हर अखबारों को पढ़ते हैं तो क्यों ना हम हिंदी अखबार के जगह पर अंग्रेजी अखबार पड़े जिससे हमारी अंग्रेजी उच्च स्तर तक पहुंचे.

अंग्रेजी अखबार में आए हेडलाइंस जो किसी की लाइफस्टाइल से जुड़ी होती है तो कई फिल्मों के हेडलाइंस आते हैं इन सभी के हेडलाइंस के पैराग्राफ को पढ़ें इन सभी पर आंखों में अंग्रेजी के वाक्य बहुत ही सिंपल होते हैं इससे आपको आसानी प्रयोग समझ में आएगी और यह काम अगर आप प्रतिदिन कर दें तो कुछ ही दिनों में आपकी अंग्रेजी पढ़ने का स्पीड बहुत ही तेजी से बढ़ जाएगा.

10. अंग्रेजी गाने सुने

अंग्रेजी बोलने के लिए आपको अंग्रेजी सुननी बहुत आवश्यक है इसलिए आपको यह प्रयास करना चाहिए कि जहां तक संभव हो आप इंग्लिश गानों को सुनें.

इससे जब आप इंग्लिश गानों को सुन रहे होते हैं उस समय आपकी ध्यान बस इंग्लिश गाने को सुनने में रहनी चाहिए.

साथी कुछ समय बाद आप कुछ इन गानों को गुनगुनाने लगे और कुछ लाइंस ऐसे होंगे जो आप भी इन गानों के साथ बोल पाएंगे इसलिए जहां तक संभव हो अंग्रेजी गानों को सुनें.

फोन के माध्यम से हेडफोन लगाकर सुन सकते हैं या फिर बहुत सारे ऐसे टीवी के चैनल सोते हैं जिसमें अंग्रेजी गाने देते हैं उनसे भी सुन सकते हैं या तो फिर रेडियो से भी इंग्लिश गाने को आप सुन सकते हैं.

इंग्लिश गानों को इन सभी माध्यम से सुनने के दौरान आपको जहां तक संभव हो इन गानों को दोहराने का प्रयास करना चाहिए इससे आप इन गानों की ओर ढलते चले जाएंगे और आपको गाना समझ में आने लगेगा इससे आपकी इंग्लिश भी अच्छी होगी.

11. अंग्रेजी कहानी

अंग्रेजी को सीखने के लिए आपको सारी क्रियाकलापों के साथ-साथ अंग्रेजी कहानियों को भी पढ़ना और बोलना चाहिए जिससे आपकी अंग्रेजी के वाक्यों में आप की पकड़ अच्छी बनेगी.

अंग्रेजी की कहानी को पढ़ने के लिए या तो आप अंग्रेजी की बुक से पढ़ सकते हैं या फिर आपके फोन में अंग्रेजी कहानी भी दी जाती है इन सभी से आप अंग्रेजी कहानी को सुनने के साथ-साथ पढ़ भी सकते हैं.

इससे आपकी वाक्य में पकड़ बनेगी और आपकी अंग्रेजी अच्छी होगी इन सभी के अलावा यदि आपको किसी को कहानी सुनाने की मन है तो आप कहीं से भी अंग्रेजी की कहानी निकाल उन लोगों को अंग्रेजी की कहानी को पढ़ हिंदी में बताएं.

इन सभी क्रियाकलापों से आपकी अंग्रेजी बहुत हद तक अच्छी होती जाएगी.

12. अंग्रेजी मुहावरे

अंग्रेजी सीखने के लिए अंग्रेजी मुहावरों का ज्ञान होना बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि हम अधिकतर हिंदी भाषा को बोलते वक्त हिंदी मुहावरे का बहुत ही ज्यादा यूज कर देते हैं.

ठीक इसी प्रकार हमें इंग्लिश बोलते वक्त इंग्लिश मुहावरे की भी जरूरत होगी तो इसके लिए हमें इंग्लिश मुहावरे को आना बहुत ही जरूरी है.

इंग्लिश को अच्छा बनाने के लिए इंग्लिश मुहावरे का ज्ञान होना अनिवार्य है इसलिए आपको इंग्लिश के मुहावरे सीखनी चाहिए.

इसे आप चाहे तो अंग्रेजी मुहावरे के बुक से भी पढ़ सकते हैं या फिर फोन की मदद से भी आप इंग्लिश की मुहावरे पढ़ सकते हैं जो आपकी इंग्लिश को अच्छा बनाने में आपकी मदद करेगी.

13. आत्मविश्वास

 यदि आपको इंग्लिश क्लीयरली बोलनी है तो इसके लिए आपको अपने आप में आत्मविश्वास रखना बहुत ही जरूरी है क्योंकि यदि आप अपने आप को ही को सोओगे कि मुझे ग्रामर अच्छे से नहीं आते मुझसे बोलने में गलती होगी.

यह सब यदि आप सोचकर इंग्लिश बोल रहे हैं तो आपको इंग्लिश सीखने में सफलता हासिल नहीं होगी इसलिए जहां तक संभव हो अपने आप में आत्मविश्वास रखें और इंग्लिश बिना घबराए बोलना शुरू कर दें.

आत्मविश्वास रखना बहुत ही जरूरी है क्योंकि आत्मविश्वास की मदद से हम कठिन से कठिन कार्यों को आसानी पूर्वक हल कर सकते हैं.

इसलिए इंग्लिश बोलते वक्त भी अपने आप में आत्मविश्वास रखें और इंग्लिश बोलना शुरू कर दें इससे आपकी इंग्लिश कुछ ही दिनों में बहुत ही अच्छी हो जाएगी.

14. आईने के सामने अभ्यास करें

आपको इंग्लिश बोलने में संकोच हो रही है और आप इंग्लिश बोलना चाहते हैं तो इसके लिए आपको सारी क्रियाकलापों के साथ-साथ इंग्लिश का अभ्यास आईने के सामने करें.

आप आईने के सामने खड़े हो जाएं और कुछ कुछ छोटे-छोटे वाक्यों को आईने के सामने दोहराएं इसके साथ साथ आप कुछ क्वेश्चंस को भी आईने के सामने करें और आंसर भी खुद दें इन सभी प्रयासों से आपका इंग्लिश का अभ्यास बहुत ही अच्छी तरीके से होगा और आप बिना संकोच किए इंग्लिश बोल सकोगे.

इंग्लिश के अभ्यास के लिए बहुत से कोई को किसी के सामने बोलने में संकोच होता है कि कहीं गलत हो जाए तो यह मुझे क्या बोलेगा.

इन सभी चीजों को ध्यान में रखते हुए आप अपने इंग्लिश की अभ्यास आईने के सामने करें तो आप काफी हद तक अपने आप को इंग्लिश का प्रयास करने में सक्षम हो पाएंगे और आपकी इंग्लिश इससे बहुत हद तक अच्छी होगी.

15. रोजाना अभ्यास करें

अंग्रेजी में फास्टर अंग्रेजी बोलने सीखनी है तो आपको इसके लिए प्रतिदिन अभ्यास करना आवश्यक है क्योंकि अभ्यास करने से हर एक चीज आसान हो जाती है.

इस तरह यदि आपको इंग्लिश सीखनी है तो इंग्लिश में अभ्यास प्रतिदिन करें, एक भी आपका इंग्लिश बहुत ही ऊंचे स्तर तक पहुंच जाएगा और इस तरह आप एक अच्छे इंग्लिश स्पीकर बनने में सफल हो पाएंगे.

अभ्यास एक ऐसी चीज है जिससे कोई भी काम कितना भी जटिल हो अभ्यास के दौरान उस काम को आसान बना लिया ही जाता है.

इसलिए अभ्यास करना कभी छोड़ना नहीं चाहिए अभ्यास करने से हमें अपना लक्ष्य पाने में कठिनाई नहीं होती.

निष्कर्ष

इंग्लिश भाषा आज के जनरेशन में हर व्यक्ति के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि बिना इंग्लिश के इस जनरेशन में कोई काम कर पाना बहुत हद तक कठिन है इस तरह इंग्लिश हमारे जीवन में बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा बन गई है.

आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से अंग्रेजी कैसे सीखे इससे संबंधित सारे तरीकों को यहां बताया गया है.

आशा है आपको हमारा यह आर्टिकल पसंद आया हो यदि आपको पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें.